Menu

वायुसेना दिवस: IAF चीफ ने बालाकोट का किया जिक्र, कहा- आतंकी हमलों से निपटने के सरकार के तरीकों में बदलाव आया है

नई दिल्ली: आज भारतीय वायुसेना (आईएएफ) का 87वां स्थापना दिवस है. इस खास मौके पर गाजियबाद के हिंडन एयरबेस पर एयरशो का आयोजन किया जा रहा है. जहां आईएएफ के जांबाज करतब दिखा रहे हैं और दुनिया को भारत की शक्ति का एहसास दिला रहे हैं. इस कार्यक्रम में वायुसेना के नए एयरचीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया ने भी पहली बार वायुसेनाध्यक्ष के तौर पर परेड की सलामी ली.
%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%af%e0%a5%81%e0%a4%b8%e0%a5%87%e0%a4%a8%e0%a4%be-%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b5%e0%a4%b8-iaf-%e0%a4%9a%e0%a5%80%e0%a4%ab-%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%ac%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a4%be

आरकेएस भदौरिया ने आज बालाकोट एयरस्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा कि आतंकवादी हमलों से निपटने के सरकार के तरीके में बहुत बड़ा बदलाव आया है. उन्होंने कहा, ”बालाकोट में एयर स्ट्राइक करना एक राजनीतिक संकल्प था. आतंकी हमलों से निपटने के सरकार के तरीकों में बदलाव आया है.” उन्होंने पाकिस्तान की ओर इशारा करते हुए कहा, ”पड़ोस का वर्तमान सुरक्षा वातावरण चिंता का गंभीर विषय बना हुआ है. पुलवामा हमला रक्षा प्रतिष्ठानों पर होने वाले लगातार खतरे की याद दिलाता है.”

इससे पहले थल सेना प्रमुख बिपिन रावत, वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया और नेवी चीफ कमरबीर सिंह नेशनल वॉल मेमोरियल पहुंचे और श्रद्धांजलि अर्पित की. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट कर वायुसेना को बधाई दी. राष्ट्रपति ने ट्वीट कर कहा, ”वायु सेना दिवस पर, हम अपने वायु योद्धाओं, सेवानिवृत्त अधिकारियों और भारतीय वायु सैनिकों के परिवारों का सगर्व सम्मान करते हैं. साहस और दृढ़ निश्चय के साथ हमारी हवाई सीमाओं को सुरक्षित रखने वाले हमारे बहादुर वायु सैनिकों का शौर्य भारत के लिए गौरव का विषय है.” वहीं पीएम मोदी ने लिखा, ”आज वायुसेना दिवस के दिन एक गर्व से भरा हुआ राष्ट्र अपने वायु योद्धाओं और उनके परिवारों के प्रति आभार व्यक्त करता है. भारतीय वायु सेना निरंतर समर्पण और उत्कृष्टता के साथ भारत की सेवा करती आ रही है.”


^