Coronavirus: शाहीनबाग की तर्ज पर इंदौर में चल रहा धरना रद्द, हटाए गए तंबू और बैनर - Journalistdelhi.tv
 
Menu

Coronavirus: शाहीनबाग की तर्ज पर इंदौर में चल रहा धरना रद्द, हटाए गए तंबू और बैनर

इंदौर: देशभर में कोरोना वायरस का को लेकर कोहराम मचा हुआ है. इस जानलेवा वायरस के चलते 513 लोगों को संक्रमित पाया गया है तो 11 लोगों की मौत हो गई है. ऐसे में आज दिल्ली पुलिस ने नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर चल रहे शाहीन बाग के प्रदर्शन को ख़त्म करा दिया. वहीं इंदौर में भी शाहीन बाग की तर्ज पर चल रहे धरने को लोगों ने 31 मार्च तक के लिए रद्द कर दिया है. मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 7 मामले सामने आए हैं.
coronavirus-%e0%a4%b6%e0%a4%be%e0%a4%b9%e0%a5%80%e0%a4%a8%e0%a4%ac%e0%a4%be%e0%a4%97-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%a4%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%9c-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%87%e0%a4%82%e0%a4%a6%e0%a5%8c

इंदौर के शाहीनबाग के नाम से बन गई थी पहचान

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण उन्होंने प्रशासन की अपील पर बड़वाली चौकी में आंदोलन रोका है. बहरहाल, यह कदम दिल्ली पुलिस द्वारा राष्ट्रीय राजधानी के शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को मंगलवार सुबह हटाये जाने के तत्काल बाद उठाया गया. इस बीच, मध्यप्रदेश में हालिया सत्ता परिवर्तन के बाद शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई वाली भाजपा सरकार भी काम-काज शुरू कर चुकी है.

कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण जिले में कल सोमवार से लागू लॉक डाउन के बीच शहर की बड़वाली चौकी के प्रदर्शनस्थल पर मंगलवार को सन्नाटा पसरा था. धरना-प्रदर्शन स्थगित किये जाने के बाद वहां कुछ लोगों को तम्बू, बैनर-पोस्टर और अन्य सामान हटाते देखा गया. प्रदर्शनकारियों के द्वारा जारी संदेश में कहा गया है कि “सीएए के खिलाफ हमारा संघर्ष बंद नहीं हुआ है. इस काले कानून के खिलाफ हमारा संघर्ष आगे भी जारी रहेगा.” सूत्रों ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण बड़वाली चौकी के प्रदर्शनकारियों को सलाह दी गयी थी कि वे अपना धरना-प्रदर्शन रोक दें.

गौरतलब है कि सरकार जन हित में लगातार परामर्श दे रही है कि घातक कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिये सामाजिक दूरी बनाना हर व्यक्ति के लिये आवश्यक है. दिल्ली, चंडीगढ़ और महाराष्ट्र और पंजाब में कर्फ्यू भी लगा दिया गया है.


^